Curofy
Dr. Mrs. R. Nihar Mohapatra (Obstetrics & Gynecology (Ayurveda)) needs a second opinion on this medical case.
Vagina यदि आप योनि सम्बन्धी बातें करने या जानने के लिए बेहद शर्मीली हैं या सही जानकारी तलाशने में असमर्थ हो रही हैं तो निम्नलिखित बातें आपकी समस्या का समाधान करने में सहायक हो सकती हैं। आमतौर पर और प्रसव के बाद योनि से जुड़े कुछ तथ्य इस प्रकार हैं: साबुन और कठोर क्लींजर से दूर रहें। आपकी योनि अपने आप को स्वयं साफ रखती है। इसमें विभिन्न प्रकार की ग्रंथियां होती हैं जो योनि क्षेत्र को चिकना और साफ करने के लिए आवश्यक द्रव का उत्पादन करती हैं। सफाई उत्पाद, विशेष रूप से रासायनिक डाई या सुगंध लाने वाले उत्पाद, योनि में जलन उत्पन्न कर सकते हैं और लाभकारी प्राकृतिक बैक्टीरिया को धो सकते हैं। जब ये फायदेमंद बैक्टीरिया धुल जाते हैं तब अनाक्सी (Anaerobic) बैक्टीरिया और यीस्ट उत्पन्न होते हैं जो डिस्चार्ज (Discharge), गंध और खुजली जैसे लक्षण पैदा करते हैं। इसलिए लेबिया (Labia) क्षेत्र पर हल्का साबुन लगाना ठीक है बाकी योनि में स्वयं स्वच्छ रहने के गुण मौजूद होते हैं। योनि की औसत लंबाई 3 से 4 इंच होती है। स्त्रीरोग विशेषज्ञ लिसा रैंकिन के अनुसार, "कामोत्तेजना के दौरान योनि की लंबाई में दोगुना वृद्धि हो सकती है।" यदि सेक्स के दौरान आपको दर्द का अनुभव हो रहा है तो आप स्नेहक (Lubricant) का उपयोग कर सकती हैं। लिसा रैंकिन के मुताबिक आपको जितनी अधिक कामोत्तेजना होगी, संभोग के दौरान उतने ही कम दर्द का अनुभव होगा। यह एक तथ्य है कि आपके चेहरे की भांति अंगों में भी उम्र के साथ बदलाव आता है। डॉ. रैकिन के अनुसार, "एस्ट्रोजन का स्तर घटने के कारण लेबिया की मोटाई भी कम हो सकती है। योनी की त्वचा गहरे या हल्के रंग की हो सकती है और क्लिटोरिस (Clitoris) सिकुड़ सकता है। एस्ट्रोजन के घटते स्तर के कारण होने वाले ये परिवर्तन. डॉ. रैकिन कहती हैं कि "कामोत्तेजना के दौरान डिस्चार्ज होना असामान्य नहीं है और उम्र बढ़ने के साथ यह और अधिक हो सकता है।" वास्तव में मूत्रमार्ग के आसपास ग्रंथियां होती हैं। जो मूत्राशय और योनि के बीच की ट्यूब के माध्यम से योनि स्राव करती हैं। महिलाओं में प्रोस्टेट, ग्रंथियों के संग्रह, रक्त वाहिकाओं, तंत्रिकाओं और स्पंजी ऊतकों से मिलकर बनता है। जब ये उत्तेजित होते हैं तो द्रव्य का स्रावण करते हैं। प्रसव के बाद आपकी योनि में दिखने से अधिक महसूस करने लायक परिवर्तन होते हैं। डॉ. रैंकिन, स्त्री रोग विशेषज्ञ के अनुसार, सर्जरी के समय उन्हें मां न बनने वाली महिलाओं के बजाय दो बच्चों की मां के लिए स्पेक्युलम डिवाइस (speculum) की आवश्यकता होती है। Kegel Exercise - squeeze and release your Pelvic Muscles. इसलिए यदि आपको लगता है कि प्रसव के बाद आपकी योनि में परिवर्तन आया है तो आप कीगल एक्सरसाइज कर सकती हैं। ये व्यायाम आप कहीं भी कर सकती हैं। ये व्यायाम आप कहीं भी और कभी भी कर सकती हैं। इसमें आपको बस मांसपेशियों को सिकोड़ना है, जैसे आप मूत्र के प्रवाह को रोकती हैं। कुछ सेकंड के लिए मासपेशियों को रोकिये और फिर छोड़ दें। इस प्रकार ये प्रक्रिया 10 बार दोहराती रहें। निश्चित तौर पर आपको कुछ दिनों में अन्तर महसूस होगा। डॉ. रैंकिन के अनुसार, कुछ नियमिततायें अपनाकर आप योनि को स्वस्थ रख सकती हैं। योनि को स्वस्थ रखने के लिए केवल सेक्स ही पर्याप्त नहीं है। नियमित व्यायाम और कीगल एक्सरसाइज इसके लिए आवश्यक हैं। आप अन्य व्यायामों के लिए डॉक्टर से भी सलाह ले सकती हैं। (और पढ़ें - योनि का कसाव वापस लाने के उपाय) डॉ. रैंकिन ने नोट किया है कि "प्रजनन के उम्र की एक महिला को आठ घंटे में 1.55 ग्राम योनि स्राव होता है। लेकिन कुछ महिलाएं बहुत कम और कुछ बहुत अधिक उत्पादन करती हैं। योनि के कई प्रकार के विकार होते हैं, जिनके बारे में हर महिला को पता होना आवश्यक है। उनमें से कुछ यह हैं - वैजिनाइटिस (Vaginitis): यह एक प्रकार की योनि में होने वाली सूजन होती है जो आमतौर पर यीस्ट संक्रमण या बैक्टीरिया के अतिवृद्धि के कारण होती है। खुजली, डिस्चार्ज (discharge) और गंध में परिवर्तन इसके प्रमुख लक्षण हैं। वैजिनाइटिस का इलाज एंटीबायोटिक और एंटीफंगल दवाओं से किया जाता है। वैजिनिसमस (Vaginismus): यौन संभोग के दौरान योनि की मांसपेशियों में अनैच्छिक ऐंठन होने की स्थिति को वैजिनिसमस कहते हैं। सेक्स या चिकित्सा स्थितियों के कारण भावनात्मक दुःख इसके लिए जिम्मेदार हो सकते हैं। आमतौर पर इसका इलाज व्यायाम, दवाओं आदि से किया जाता है। जननांग मस्से (Genital warts): जननांगों में होने वाले मस्से योनि और गर्भाशय ग्रीवा को प्रभावित करते हैं। उपचार द्वारा ह्यूमन पैपिलोमा वायरस (एचपीवी) के कारण होने वाले मस्सों को हटाया जा सकता है। ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis): यह सूक्ष्म परजीवी द्वारा योनि में होने वाला संक्रमण है। ट्राइकोमोनिएसिस सेक्स द्वारा आसानी से स्थानांतरित किया जा सकता है और इसका इलाज भी आसानी से किया जा सकता है। बैक्टीरियल वेजिनोसिस [Bacterial vaginosis (BV)]: योनि में लाभदायक बैक्टीरिया का संतुलन बिगड़ने के कारण अक्सर दुर्गन्ध और डिस्चार्ज उत्पन्न होते हैं। डूशिंग (Douching) या किसी नए व्यक्ति के साथ यौन संबंध स्थापित करने से बैक्टीरियल वेजिनोसिस हो सकता है। एंटीबायोटिक दवाओं द्वारा इसका इलाज किया जाता है। हर्पीस सिंप्लेक्स वायरस [Herpes simplex virus (HSV)]: हर्पीस वायरस योनि और गर्भाशय ग्रीवा को संक्रमित करता है जिससे छोटे, दर्दनाक और बार बार उत्पन्न होने वाले छाले और अल्सर हो सकते हैं।
See this content immediately after install